WEB HOSTING

Web Hosting Kya Hai : India Ki Best Web Hosting Koun Si Hai

Web Hosting Kya Hai : India Ki Best Web Hosting Koun Si Hai
Written by Jeun Sinha

सबसे पहले अगर हम कोई वेबसाइट या ब्लॉग बनाना चाहते हैं तो एक हमें सबसे पहले डोमेन नेम और दूसरा वेब होस्टिंग की जरूरत पडती है ।

दोस्तों अगर अब आप भी एक ब्लोगर है या फिर आप कभी भी ब्लॉगिंग करने के बारे में सोच रहे है तो आपके लिए आज वेब होस्टिंग के बारे में जानना बहुत ज्यादा जरूरी होगा क्योंकि बहुत से ऐसे लोग हैं जिनको वेब होस्टिंग के बारे में जानकारी नहीं होती है जिस वजह से मैं ब्लॉगिंग में अपना करियर नहीं बना पाते हैं दोस्तों आज बहुत सारे लोग bloger.com का इस्तेमाल करते हैं क्योंकि यह बिल्कुल फ्री होता है जिसके लिए हमें कोई पैसे नहीं देने पड़ते हैं लेकिन अगर हम आज ब्लॉगिंग के जरिए पैसे कमाना चाहते हैं तो हमें अपनी खुद की वेबसाइट बनानी पड़ती है इसीलिए वेबसाइट और ब्लॉग बनाने के लिए हमारे पास अपना पर्सनल एक डोमेन नेम और एक वेब होस्टिंग का होना बहुत जरूरी होता है ।

डोमेन नेम क्या होता है इस बारे में जो जानकारी लगभग आप सभी को होगी लेकिन वेब होस्टिंग के बारे में जानकारी बहुत कम लोगों को होती है ।

वेब होस्टिंग क्या है

दोस्तों अगर आसान शब्दों में हम बात करें तो वेब होस्टिगं आपकी वेबसाइट के डाटा को स्टोर करने में बहुत कम आती है जैसे आप के द्वारा अपलोड किए गए टेक्स्ट वीडियो फोटो । पूरा डाटा डोमेन नेम के द्वारा एक्सेस किया जाता है ।

जिस तरह हम अपनी दुनिया में रहते हैं उसी तरह बिल्कुल एक इंटरनेट की भी अपनी दुनिया होती है जैसे हम अपनी दुनिया में रहने के लिए घर बनाने के लिए जगह ढूंढते हैं बिल्कुल उसी प्रकार इंटरनेट की दुनिया में रहने के लिए हमें वहां पर जगह ढूंढनी होती है और यही जगह वेवहोस्टिंग के नाम से जानी जाती हैं डोमेन नेम इस वेब होस्टिंग का पता होता है वेब होस्टिंग आज बहुत सारी कंपनियों के द्वारा प्रदान की जा रही है जो मंथली और वार्षिक शुल्क हम लोगों से लेती हैं जिस वजह से आपकी वेबसाइट आज 24 घंटे ऑनलाइन रहती है दोस्तों अगर वेब होस्टिंग खरीदने की बात करें तो वह बहुत आसान होता है लेकिन किस प्रकार की व्यवस्था खरीदनी है यह पता कर पाना बहुत मुश्किल होता है वेब होस्टिंग भी कई प्रकार की आने लगी है जिनका अलग-अलग काम होता है ।

वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती हैं

दोस्तों अगर आज हम उपयोग करने की दृष्टि से देखें तो वेब होस्टिंग मुख्य चार प्रकार की होती हैं जो निम्न है।

  • Shared web hosting
  • Virtual private server
  • Dedicated web hosting
  • cloud web hosting

Seared web hosting

दोस्तों इसका नाम पढ़ने से ही हमको पता चल जाता है कि यह एक प्रकार के नेटवर्क का सेट है इसमे एक साथ कई सारी वेबसाइटे साथ जुड़ी होती है अगर उदाहरण की माने तो मान लीजिए आप किसी एक कमरे में अपने किसी मित्र के साथ रहते हैं और उस कमरे का इस्तेमाल करते हैं जिस कमरे का किराया सभी साथियों को देना होता है किराया सभी मे बट जाता है और सभी को किराया कम देना पड़ता है ठीक उसी प्रकार से यह होस्टिंग काम करती है जहां एक सर्वर के साथ कई सारी वेबसाइट के हजारों फाइलस्टोर होती हैं क्योंकि दोस्तों जब हम ब्लॉगिंग काम शुरू करते तो हमारे पास इतना सारा ट्रैफिक नहीं होता है इसलिए शेयर्ड होस्टिंग नए ब्लॉगर के लिए बिल्कुल सही रहती है यह सस्ती होती है ।

इसके सबसे बड़ी कमीे यह होती है कि इसके साथ कई सारी वेबसाइट अटैच होती है इसलिए स्पीड कम देती है ।

Virtual private Network

दोस्तों यह होस्टिंग अलग-अलग भागों में बांटी जाती है जिसका इस्तेमाल सिर्फ आपकी वेबसाइट के लिए किया जाता है यह होस्टिंग सिक्योर होती है और इसकी प्रोसेसिंग स्पीड बहुत तेज होती है ।

उदाहरण की की मानें तो यह कमरे की तरह होती है जिस कमरे में आपकी सभी चीजें आपकी पर्सनल होती है और पूरे कमरे का इस्तेमाल भी केवल आप और केवल आप करते हैं इसमें किसी दूसरी वेबसाइट को अटैच नहीं किया जा सकता है तो एक बार जब आपकी साइट पॉपुलर हो जाती है और उस पर ट्रैफिक ज्यादा आने लगता है तब आप VPN होस्टिंग का प्रयोग कर सकते हैं ।

Dedicated web hosting

दोस्तों इसे भी हम एक एग्जांपल से ही समझेंगे यदि एक घर के समान होती है जिसमें एक सर्वर होता है जो केवल आपकी वेबसाइट के लिए काम करता है इसीलिए यह बहुत फास्ट गति से काम करता है बहुत बड़ी-बड़ी वेबसाइट द्वारा इस होस्टिंग का इस्तेमाल किया जाता है जिस पर हर महीने बहुत ज्यादा ट्रैफिक आता है यह बहुत ज्यादा सिक्योर होती है ।

Types of operating system web hosting

दोस्तो कभी-कभी आप होस्टिंग खरीदते तो आपके पास दो प्रकार के विकल्प होते हैं एक लिनक्स होस्टिंग और दूसरा विंडो होस्टिंग इनमें से आप किसी एक होस्टिंग का इस्तेमाल आप अपने ब्लॉक के लिए कर सकते हैं लेकिन अगर तुलना की बात की जाए तो विंडो होस्टिंग की तुलना में लिनक्स होस्टिंग सस्ती पड़ती है क्योंकि लिनक्स होस्टिंग एक ओपन सोर्स होती है इसीलिए अधिकतर लोग इस होस्टिंग का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं जबकि विंडो होस्टिंग के लिये कंपनी के लाइसेंस देना पड़ता है इसीलिए यह थोड़ी महंगी भी आती है लेकिन आपको ‌इस होस्टिंग में से ज्यादा फीचर मिल जाते हैं ।

अपनी वेबसाइट के लिए अच्छी वेब होस्टिंग कैसे चुने

दोस्तों जब भी हम कोई अच्छी वेबसाइट खरीदने जाते हैं तो हमारे सामने कई सारी बातें खुलकर आती हैं जो आपको सोच कर देती है या फिर जिनके बारे में आपको पहले से कोई जानकारी नहीं होती है होस्टिग क्या है‌ अगर आपको पूरी जानकारी है तो आप अपने लिए अच्छी वेबसाईट खरीद के ला पाएंगे ।

Web hosting support

दोस्तों अगर आपके पास कोई ज्यादा तकनीकी ज्ञान नहीं है और आप जा रहे हैं तो आपके लिए वबहोस्टिग सपोर्ट सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है क्योंकि बहुत बार वेबसाइट की तरह प्रॉब्लम आ जाती है टेक्निकल ज्ञान नहीं होने की स्थिति में आपको बहुत सारा नुकसान भी हो सकता है इसीलिए आप हमेशा एसी होस्टिंग चुनाव करें जिससे सीधे कांटेक्ट में रहे और अपनी भाषा में बात कर सके ।

Up time

दोस्तों आपको वेब होस्टिंग का चुनाव करने से पहले सबसे ज्यादा यह ध्यान देना पड़ेगा कि आपकी होस्टिंग का up time 99.99% हो ऐसा होता है तो आपकी वेबसाइट हमेशा ऑनलाइन रहेगी क्योंकि वेब होस्टिंग का मेन काम तो आप की वेबसाइट को 24 घंटे ऑनलाइन रखना होता है और अगर ऐसा टाइम आपको मिल जाता है तो आपकी साइट पर ट्रैफिक कम ज्यादा हो सकता है ।

Speed

दोस्तों फास्ट स्पीड आपकी वेबसाइट के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है इसीलिए जरूरी है क्या जो भी होस्टिंग ले उसकी स्पीड बहुत फास्ट होनी चाहिए ।

Disk space

जैसे कि आपको को पता है कि वेबसाइट के कंटेंट को स्टोर करने के काम में डिस्क स्पेस का काम बहुत ज्यादा होता है इसलिए यह बेहतर रहता है कि आपका होस्टिंग अनलिमिटेड डिस्क स्पेस देने वाली हो ।

Bandwidth

दोस्तों आपने कुछ ब्लॉगर की समस्या सुनी होगी कि उनकी साइड में ज्यादा ट्रैफिक आ जाने पर उसके प्रोसेसिंग स्पीड बहुत धीरे हो जाती है और उनके कंटेंट भी कम दिखाई देती हैं इसका मेन कारण होता है बैंडविथ का जो यह बताता है कि आपकी वेबसाइट एक सेकंड में कितना डाटा एक्सेस किया जा रहा है और उसे अधिक विजिटर होने पर वेबसाइट स्लो हो जाती है इसलिए आप जिस भी होस्टिंग का प्रयोग करें उसने आप यह जरूर देखने की उसकी बैंडविथ क्या है।

Security

सिक्योरिटी आपकी वेबसाइट की सुरक्षा और वेबसाइट के सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के लिये बहुत जरूरी है। और यह भी सही है कि गूगल उन वेबसाइट्स को ही बेहतर जगह देता है जिन की वेबसाइट सिक्योर होती है। इसीलिये सिक्योरिटी को आपको वेवहोस्टिंग में ज्यादा ध्यान देना पड़ेगा क्योंकि जो वेब होस्टिंग ज्यादा सेक्योर होती है वही आपके डेटा को अच्छी तरह से एक्सेप्ट कर पाती हैं जिस वजह से आपको ज्यादा ट्रैफिक मिलता है ।

Web hosting in India

दोस्तों अगर हम अपने इंडिया के लिए अच्छी वेब होस्टिंग की बात करें तो कुछ ऐसी वेब होस्टिंग है जो बहुत भरोसेमंद हैं और साथ ही आपको कई प्रकार के फीचर प्रदान करती हैं जिनमें से कुछ निम्न है ।

  1. Hostgator
  2. Bluehost
  3. Site ground
  4. Inmotion hosting
  5. Godaddy

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल था मैं उम्मीद करता हूं आपको आज का आर्टिकल पसंद आया होगा हमारे साथ जुड़े रहने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद ऐसे ही और नई-नई जानकारी पाने के लिए आप हमारे ब्लॉग के साथ जुड़े रहे।

About the author

Jeun Sinha

Leave a Comment